चलने का समय हो गया है!

“हर मुलाक़ात, हर यात्रा,
राही को उसके अन्दर, उसके अवचेतन मन में, कुछ संकेत देती है!”,
Matteo Pennacchi –
Il Grande Sogno, il viaggio del mondo senza soldi e senza bagagli

18 अगस्त 2000! मैंने पुस्तकालय में उस किताब को देखा और उसके शीर्षक ने अचानक ही मुझमे उत्सुकता जगा दी, क्योंकि मैं यात्रा करना बहुत पसंद करता था! वो भी तब जब मैं सिर्फ 14 साल का था और यात्राओं के बारे में मुझे कोई अनुभव नहीं था!

महीने का अंत होते होते, मैं किताब पढ़ चुका था और उस क्षण से ही मैंने पूरे संसार की यात्रा का सपना देखना शुरू कर दिया था!

12 सालों में, मैंने लगभग 10 बार वो किताब उधार ली परन्तु तब, जब मैं किसी यात्रा को देख कर डर गया था!

मुझे लगता है, यदि मुझे किसी दिन, यह किताब किसी पुस्तकालय में या किसी “3 यूरो स्टैंड (चलती फिरती दुकान)” पर मिल गई तो मैं यह किताब खरीद लूँगा! मेरे लिए ये किसी जादुई वस्तु जैसी होगी!

वास्तव में इस बार मैं ये पागलों जैसी हरकत करने जा रहा हूँ! ये किताब मेरे हाथों में है और मैंने इसे फिर से पढ़ा ताकि मेरे हर सफ़र में होने वाली मेरी चिंता को ख़तम कर सकूं! मैं कामना करता हूँ कि इस यात्रा के पूरे होने में ये मुझे हिम्मत दे!

इस हफ्ते मैं, 2 महीनों के लिए विदेश रहने जा रहा हूँ लेकिन मैं एक ही देश में नहीं रहूँगा! मैं स्केंडेनेविया के आसपास से सफ़र शुरू करूंगा, मेरा पहला पड़ाव ‘ओसलो’ होगा!

कल वो दिन है, जिसका मुझे इन्तेजार था, सुबह 4 बजे उठाना है और 6 बज कर 40 मिनिट पर मेरी उड़ान है!

मैं बाल कटवाने गया, मैंने मेरी कार का इंश्योरेंस कुछ दिनों के लिए बंद करवाया और उस समय, सेक्रेटरी के वो शब्द, मेरे दिमाग में फिर आये जो मुझे चेतावनी दे रहे थे कि अगर मैंने इंश्योरेंस को बंद करवाया तो मैं अगले 3 महीने तक कार का उपयोग नहीं कर पाऊंगा! आशा करता हूँ (कि ऐसा ही हो)!

ओसलो जाने के लिए मैंने ‘रियान एअर’ से पहला टिकिट लिया, मैं 2 दिन और 1 रात रुकने वाला हूँ! फिर मैं 2 हफ़्तों के लिए स्वीडन जाऊँगा और स्टोकहोम, अपसाला और हेलसिंकी भी जाऊँगा!

उसके बाद मैं, न्यू यॉर्क जाने के लिए, 2 दिन लन्दन में रहूँगा!

2 हफ़्तों के लिए 2 जींस, 2 टी-शर्ट, 2 टैंक टॉप, 1 कार्डिगन, 1 पुलोवर, 1 जैकेट, 2 शॉर्ट्स (घुटनों तक का पजामा), मोज़े और

बॉक्सर और किसी ख़ास मौके (कौन जाने) के लिए 2 शर्ट, तैरने के कपडे, कैमरा, सिर दर्द की दवाई, खुद की साफ़ सफाई का किट, मोबाइल फ़ोन और सबसे जरूरी, किताब… ये सब जरूरी सामान, विदेशी धन और फ़ोटोज़ के साथ मैंने अपने बैग में रखे, फिर भी कुल वज़न 15 किलो पहुँच गया!

मैंने दूसरी किताब ‘ग्रैंड सोग्नो(Grande Sogno)”, जो कि पूर्वी अमरीका के पर्यटन मार्गदर्शक “Matteo Pennacchi” की है, और मेरी लिखी हुई किताब चुनी, ताकि मेरे दोस्त मेरी किताब देख सकें!

चिंता, चिंता, चिंता… लेकिन मेरे अमरीका के प्रोजेक्ट के लिए बहुत सारे विचारों के साथ मैं बहुत उत्साहित (उत्तेजित) भी था! लेकिन थोड़ी देर के लिए मैं आपको छोटी सी दुविधा और भ्रान्ति के साथ छोड़ रहा हूँ!

मुझे ई-मेल और एस.एम्.एस. मिले जिनसे एसा लगता था कि मैं बहुत अमीर होने वाला हूँ क्योंकि मैं यह सफ़र कर रहा हूँ!

वास्तव में, मुझे यह उड़ान बहुत ही सुविधाजनक पड़ रही थी: ओसलो के लिए उड़ान के लिए मैंने सिर्फ 46 यूरो खर्च किये थे, जिसमे सामान ले जाने का खर्च जुड़ा हुआ  था; एक घरेलु कंपनी एस.ए.एस. यानि स्केन्डिनेवियन एरलाईन्स से, ओसलो से स्टोकहोम के लिए मैंने 75 यूरो (दूसरी कम दाम की उड़ानों के मुकाबले, जिनके लिए मुझे 76 यूरो खर्च करने पड़े थे); ब्रिटिश एयरवेज से स्टोकहोम से लन्दन के लिए मैंने सिर्फ 65 यूरो खर्च किये (रियान एयर के मुकाबले, जिसमे बिना सामान के, मुझे 60 यूरो खर्च करने पड़े थे)!

इस तरह स्केंडीनेविया की यात्रा का कुल खर्च 186 यूरो पड़ा!

अब भी किसी को लगता है कि मैं अमीर हूँ?

लन्दन से न्यूयॉर्क के दोनों तरफ के सफ़र पर मैंने 587 यूरो खर्च किये और कुल मिला कर उस समय तक मैंने 770 यूरो खर्च कर दिए थे!

खैर, सफ़र में हुए पूरे खर्च का ब्यौरा मैं बाद में दूंगा ताकि हम देख सकें कि मैंने कितना खर्च किया!

******************************************************************************
Translated by Navneet Goyal (navneetgoyal2000@gmail.com)
नवनीत गोयल (navneetgoyal2000@gmail.com) द्वारा अनुवादित!
******************************************************************************