अप्रत्याशित “The Scream”

आज सुबह लिखने के बाद, मैंने एक संग्रहालय देखने जाने का तय किया! मैं सिर्फ एक टी-शर्ट और एक हल्के से कार्डिगन / cardigan* में बाहर आ गया, तापमान 5 डिग्री सेन्टीग्रेड था! स्थानीय लोगों ने जरूर कोट पहने हुए थे!

ज्यादा पास वाला, ज्यादा रोचक संग्रहालय Gallerietmuseet है! मैंने आशा की, कि मैं पिछले साल Stockholm में Nordiska संग्रहालय की तरह, भाग्यशाली रहूँगा, जब मैंने उस औरत को बताया था कि मैं एक पत्रकार हूँ और निशुल्क प्रवेश की अनुमति मांगी थी! उसने मुझे अन्दर जाने दिया और अंग्रेजी में (लिखी) एक सुचना पुस्तिका भी दी, सब निशुल्क! वो पुस्तक ही 250 Swedish Crowns (लगभग 25 यूरो) में बेची जाती है! आज इतना ही काफी होगा कि मुझे निशुल्क जाने को मिल जाए, क्योंकि मेरा बैग पहले से ही भारी है! संग्रहालय के प्रवेशद्वार पर, मैंने परिचारक / सहायक से पूछा कि क्या पत्रकार निशुल्क प्रवेश पा सकते हैं? उसने विनम्रता पूर्वक मुझसे पूछा कि क्या मेरे पास press card है? मैंने उसे मेरा बिज़नस कार्ड दिखाया जिसे उसने बिना ज्यादा ध्यान दिए देखा और मुझे एक नीला स्टीकर दे दिया! मैं अन्दर आ चुका था!

मैंने अपना बैग सामान घर / क्लॉक रूम में छोड़ने का तय किया, जहाँ बहुत सारे स-शुल्क (शुल्क चुकाने पर मिलने वाले) तिजोरियाँ / लाकर्स थी! मुझे आधा घंटा सिर्फ ये पता करने में लग गया, कि लाकर के लिए नॉर्वे के क्राउन नहीं, बल्कि यूरो (एक यूरो का सिक्का) लगते हैं! यूरो के चिन्ह के सामने आकर मेरा दिमाग एकदम खाली हो गया! मैं क्राउन डालने की कोशिश करता रहा! यहाँ तक कि मैं गुस्सा हो गया और शिकायत करने लगा कि ये (लाकर) काम नहीं कर रहा है! अंतत: मैंने यूरो डाला, (लाकर के) डायल को घुमाया और वो (लाकर) बंद हो गया!

अपनी सफाई में मैं बता देना चाहता हूँ कि मैं अकेला नहीं था जिसे लाकर के साथ दिक्कत हो रही थी! दो इटालियन लड़कियों को भी वही दिक्कत हुई थी! जब मैंने इटालियन में रहस्य बताया तो उन्होंने मुझे ऐसे देखा जैसे मैं जीती जागती “रोती हुई वर्जिन मैरी / Weeping Virgin Mary” हूँ!

जब मैं संग्रहालय के प्रदर्शनी वाले हिस्से में घुसा, मैंने दरवाजे पर खड़े सुरक्षा कर्मी को नीला स्टीकर दिखाया! उसने स्टीकर मेरे हाथ से लेकर उसे, सभी किनारों पर दबाते हुए और ये पक्का करते हुए कि वो टिका रहेगा, मेरे कार्डिगन पर चिपका दिया! एकदम वैसे, जैसे माँएं करतीं हैं जब वे अपने बच्चों के चॉकलेट खाने के बाद, उनके मुह पोंछती हैं! मुझे फिर से मूर्ख बनने जैसा अहसास हुआ!

संग्रहालय बहुत बड़ा नहीं है, सिर्फ एक ही तल / फ्लोर है! फिर भी, प्रस्तावना प्रपत्र / introductory  brochure को सरसरी तौर पर पढने से कुछ रोचक चित्रों का पता चला! उन चित्रों को देखने की योजना बनाने के लिए मैंने नक्शा देखा!

संग्रहालय में रखी हुई कलाकृतियों से मैं आश्चर्यचकित था! पहले कमरे Scandinavian कलाकारों को समर्पित हैं! मैंने सबसे पहले रूमानी / रोमांटिक चित्रकार, Christian Dahl, को देखा जिसने नॉर्वे के पहाड़ी परिद्रश्यों को दिखाया है! फिर मुझे Lucas Cranach ने अचंभित कर दिया! उस कमरे में सिर्फ धार्मिक चित्र ही हैं; हॉल / hall छोड़ने से पहले, सबसे आखिरी चित्र “The Golden Age” है, जिसमे जोड़ों / युगलों को ईडन के एक काल्पनिक बाग़ में सम्भोग / sex करते हुए दिखाया है! इस  सामूहिक सम्भोग की खुली विचारधारा वाली तस्वीर का, इतने धार्मिक और रूढ़िवादी कमरे में होना मुझे अचंभित करता था! एक और बात जो मुझे आश्चर्यचकित कर गई वो अगले कमरे में, जहाँ इटालियन चित्र प्रदर्शित थे, Orazio Odaleschi और उसकी बेटी Artemisia का काम देखना था! (ये) चित्र neoclassical काल (17वीं सदी) के हैं और ये जान कर मैं रोमांचित हूँ कि उस समय एक औरत चित्र बना सकती थी! सच में, अभी तक मैंने जितने भी संग्रहालय देखे हैं, कभी भी मैंने स्त्री कलाकारों का काम नहीं देखा है, कम से कम, बीसवी सदी के पहले का तो कुछ भी नहीं! ये जानना रोचक था कि कलाकार इटालियन थी!

जिस काम ने मुझे सबसे ज्यादा आकर्षित किया, निश्चित तौर पर वो Titian का “Danae” है! मैं De La Croix से निराश हुआ जब मैंने इस संग्रहालय में उसकी सिर्फ 4, वो भी 10cm x 15cm आकार की, तस्वीरें देखी जो Louvre (विश्व का सबसे बड़े संग्रहालय) में प्रदर्शित उसकी तस्वीर “France Who Leads the People” के आकार के आगे कुछ भी नहीं है!

स्थानीय कलाकारों (के चित्रों) के साथ आगे बढ़ते हुए, मैं Balke और Thomas Fearnley जैसे कलाकारों से मोहित रहा जिन्होंने Dahl के कलात्मक आन्दोलन का अनुगमन (पीछे पीछे जाना) किया! लेकिन जिस बात ने मुझे (संतोषजनक) आह भरने पर मजबूर कर दिया वो ये पता लगना था कि इस संग्रहालय में Edvard Munch की प्रसिद्द “SKRIK”, “The Scream” है! सबसे पहले तो मैं आश्वस्त था कि कलाकार डच / Dutch* था ना कि नोर्वे का और इसलिए सोचा कि ये चित्र Amsterdam में मिला था! निश्चित रूप से, ये चित्र चोरी नहीं किया जा सकता था! कुछ सालों पहले “The Scream” की चोरी ने एक बहुत विवाद खड़ा कर दिया था और अब ये मेरे सामने है! मैंने सुरक्षाकर्मी से चित्र के असली होने और चोरी के बारे में भी पूछा! उसने मुझे बताया कि ये चोरी हुई थी लेकिन सौभाग्य से बरामद कर ली गई! फिर भी, इस चित्र की चार प्रतियाँ हैं: एक मेरे सामने है, दूसरी किसी अज्ञात अरबपति को बेच दी गई थी, और बाकी दो हमेशा से ओसलो में Munch संग्रहालय में रही हैं!

मुझे आश्चर्य है कि अंतत: जब चार प्रतियाँ मौजूद हैं तो चोरी होने के बारे में इतना बवाल क्यों है? वास्तव में, अगर एक प्रति चोरी हो भी जाती है तो भी बाकी 3 तो हमेशा हैं ना, नहीं? Munch  संग्रहालय अतिरिक्त प्रति राष्ट्रिय कलादीर्घा / National Gallery को दे सकता था….! कोई जवाब नहीं है!

“The Scream” के अलावा, मैं मैडोना, जो गायिका “Madonna The Virgin” ज्यादा दिखती है की तस्वीर की कामुकता से और Dagen Dupa द्वारा बनाए चित्र, जिसमे शायद नशे के बाद कोमा में गई हुई एक स्त्री दिखाई गई है, से प्रभावित हुआ! मेरा पसंदीदा चित्र, Caravaggio द्वारा बनाया हुआ “Death of the Virgin” देखना मुझे पसंद आया!

दूसरे फ्रेंच कलाकृतियों, जैसे Degas द्वारा नर्तकों की मूर्तियाँ, Rodin  की “The Thinker” की मूर्ति, और Cezanne, Monet और Manet  द्वारा बनाई गई कुछ कलाकृतियों ने मुझे प्रभावित किया! उसके बाद मैंने Van Gogh का आत्म-चित्र (खुद की तस्वीर) देखा और पास ही में Modigliani की तस्वीरें थी! यहाँ पिकासो के दो चित्र भी हैं! अंत में, आखिरी कमरा स्कॅन्डिनेवियन कलाकारों को समर्पित था जैसे, Danish Thorvaldsen – जो मुझे कोपेनहेगेन की यात्रा की याद दिलाता है; Among Telemarkt – जिसके चित्र में दो किसान गप्पे मारते हुए, क्षितिज को देखते हुए, (खेत को) बाढ़ लगा रहे हैं; और अंत में Andersen की “The Month of June” जिसमे एक लड़की को एक dandelion* पकडे और विचार मग्न दिखाया है! फूल के द्वारा दर्शाई गई बेफिक्री और चिंतनशील आजादी मुझे पसंद आई! ऐसा लगता है कि ये फूल उड़ा दिए और इसके बीजों को फैला दिए जाने के लिए तैयार है! ये सोच कि मैं उनमे से एक बीज हूँ और कि मैं हवा में मुक्त यात्रा करता हूँ, मुझे पसंद है!

The Scream”: एक बहुचर्चित तस्वीर, जैसे मोनालिसा आदि!

*कार्डिगन / Cardigan: बिना कालर का, बटन वाला, ऊन का स्वेटर!

*Dutch: हॉलैंड निवासी (या हॉलैंड सम्बंधित)!

*Dandelion: पीले फूल का एक प्रकार का पौधा!

******************************************************************************
Translated by Navneet Goyal (navneetgoyal2000@gmail.com)
नवनीत गोयल (navneetgoyal2000@gmail.com) द्वारा अनुवादित!
******************************************************************************