Drottingholm, रानी के लिए एक चीनी पवेलियन!

dsc03957-copia_600x600_100kbदेर दोपहर, हम कार से Drottingholm महल गए, जो वैसे तो रानी का महल है, लेकिन फिलहाल ये स्वीडन के शाही परिवार का आधिकारिक निवास और UNESCO का एक विश्व विरासत स्मारक है! और जब हम शाही नाट्यशाला से गुजरे और शाही बाग़ में घुसे तो यूनानी बुतों की एक सेना ने हमारा स्वागत किया! वहाँ का दरवाजा, बकिंघम महल जैसा है लेकिन बाकि का शाही बाग़ बिलकुल Versailles किले के बाग़ जैसा है! सच में, बहुत बुरी बात है कि अभी भी बारिश हो रही है! मैं अभी भी पेड़ों की डालियों के बीच सूरज की रौशनी ढूँढ रहा हूँ! बाग़ से प्रवेश करते हुए, हम चीनी पवेलियन की ओर बढे! जिस समय ये बना था, उस समय चीनी शैली प्रचलन में थी और पवेलियन, राजा की ओर से उसकी रानी, रानी उर्लिका, को उसके तैंतीसवे जन्मदिन का उपहार था! सच कहूँ तो ये इतना भी चीनी नहीं दिखता! चोंच वाली छत के अलावा, बाकि इमारत लकड़ी के मॉडल जैसी दिखती है! किसी जमाने में, हॉल रानी के खाली समय के लिए होता था जहाँ वो अपनी दासियों के साथ चाय पीती थी और जहाँ नाटक खेले जाते थे! तो प्रिय उर्लिका, तुमने ज्यादा कुछ नहीं खोया है!DSC04020_600x600_100KB

शुरुआत में ये लकड़ी से बनाया गया था, लेकिन क्षय हो जाने के बाद, इसे ईंटों से फिर से बनाया गया! हो सकता है, इसी कारण ये मुझे “मॉडल” होने का आभास देता है! किसी जमाने में ये वाकई में चीनी दिखा करता होगा!

पवेलियन के सामने, रानी के पसंदीदा रंग, बैंगनी रंग के फूलों का एक छोटा सा सुन्दर चौक है! Fredrick ने मुझे उर्लिका कह कर चिढाया क्योंकि उसे पता है कि बैंगनी मेरा भी पसंदीदा रंग है! जब हम कार की ओर लौट रहे थे, तो हम, रोमन शिविरों से प्रेरित एक नकली तम्बू DSC03995_600x600_100KBKoppartälten (तांबे का तम्बू) के सामने से गुजरे! ये वो जगह है जहाँ सैन्य रक्षक तैनात हैं! सच कहूँ तो, जैसा रोम में कहते हैं, चीनी पवेलियन और रोमन तम्बू, दोनों “आँखों के लिए पीड़ादायक” हैं! ये दोनों मॉडल नुमा ढाँचे, किले की भव्यता, नव शाश्त्रीय बुतों, और सटीक चोकोर या आयत में कटी झाड़ियों वाले अनोखे बाग़ से एकदम विपरीत हैं! Fredrick ने मुझे बताया कि राजकुमारी के वास्तविक किले के सामने तो इससे भी बड़ा एक तांबे का तम्बू है, जिसे अब स्वीडिश सेना का सँग्रहालय बना दिया गया है!

कार में लौट कर, Fredrick ने यूनानी बंदे Georgof को, जिसे हम पिछली रात क्लब में मिले थे, एस.एम.एस. किया! Georgof एक डॉक्टर है, जो स्टॉकहोल्म से करीब 2 घंटे की दूरी पर रहता है! शनिवार रविवार को वो शहर में ही रह गया ताकि वो हमें नए घर में मिलने आ सके! Fredrick ने उसे रात के खाने पर बुला

DSC04013_600x600_100KB

लिया!

Fredrick ने भुने हुए गाय के माँस जैसा, सूअर का माँस, Kassler बनाया है! साथ में क्रीम, आमरस, टमाटर के गूदे, शिमला मिर्च और मिर्च से बना एक सॉस है! उसके अलावा, चावल, feta चीज़ के साथ सलाद भी है! ये हमारे यूनानी दोस्त के लिए हमारा आभार है! बढ़िया! उसने मुझे इसे बनाने की विधि देने का वायदा किया है ताकि मैं इसे घर पर बना सकूँ, हालाँकि इटली में आमरस ढूँढना आसान नहीं होगा! Georgof के जाने से पहले, Fredrick ने उससे अगले रविवार के लिए उसकी योजना पूछी क्योंकि मैंने अगले रविवार को एक इटालियन डिनर बनाने का वायदा किया है! खाने में क्या क्या होगा, ये अभी भी रहस्य है!

नवनीत गोयल (navneetgoyal2000@gmail.com) द्वारा अनुवादित

Translated by Navneet Goyal (navneetgoyal2000@gmail.com)